Beauty of the moon

 

ऐ चाँद

 

किन लफ्जों मे उतारूँ तेरी हसरत को

लफ्जों को ही बहकाए एसी बहकाती नीयत है तू

 

आसमान का खूबसूरत ख्वाब है तो

अंधेरों का जवाब लाजवाब है तू

 

भिखरते लौ का मासूम एहसास है तो

उलझे जज्बातों का बेजुबान दोस्त खास है तू

 

तुझे देख कोई मुसाफिर का जब मन डोले

कुदरत के एसे खजाने का हीरा नायाब है तू

 

बादलों के पीछे से जब तू दिखाए अपना चेहरा

अनसुने अरमान दिल के जगे चाहे लगे सक्त पेहरा

 

जब भी दिल से देखे तुझे कोई

हर बार अलग नजर आता नजराना है तू

 

सुनहरी यादों को सुनहरा बनाता है तो

सुनहरे लम्हों मे सुनहरा जान डालता है तू

 

पूछे अगर मुझसे कोई क्या लागे है तू मेरा

एक मधहोश जान की जिंदा सांस मे जिंदा है तू    ॥

 

 

 

 

Finding Krishna

 

चलो उठो हो गई है भोर

मिलकर ढूँढते हैं अपना माखनचोर

 

श्वेत वस्त्र मे नजर आया था कल

कौनसा रंग सजेगा आज सोचूँ हर पल

 

कदम उसके एक जगह टिकते नही

चारों ओर ढूँढे माखन जो लगे सही

 

आखों मे मस्ती और हाथों में बंसी

हर बार बहका जाए उसकी मीठी सी हंसी

 

वो दिखे नही तो सबके चेहरे रहे उदास

एक झलक उसकी भुजाए रूह की प्यास

 

सुनहरे कदम उसके फैलाए हर वक्त खुशियाँ

मुस्कुरा दोगे सुनकर गोपियों की बतियाँ

 

उसकी काया से भिखरे जादू कायनात के

जैसे अजीब सा विशवास मिला हो कोई सम्राट से

 

तरसे आँखें देखने उसकी मस्तीयाँ

तरसे कान सुनने आवाज की किलकारियाँ

 

मन को कैसे शांत करूँ मैं

सारी सारी रात बिना नींद जागूँ मै

 

सबका मन चुराकर वो बन गया चितचोर

ढूँढते हैं चलो आज कहाँ छुपा है माखनचोर  ॥

 

Indian Monsoon

 

Resident grey clouds in the sky

Signal the monsoon’s on a high

 

Thunder and lightening strike together

Like twins having a blast forever

 

Raindrops shower on to the soil

And every farmer’s ready for a toil

 

Little streams chose their own way

Blending with earth to have their own say

 

The earth blossoms in its own scent

All species bloom with an old descent

 

There is a freshness in the air

Drawing insects out of their lair

 

Everything is so moist and damp

Mosquitos have a field day as in a swamp

 

The jungle speaks a language of its own

Of wide growth with precious seeds sown

 

Cities have their own story to tell

As rains rain havoc and create hell

 

No one still complains though

Coz water’s precious for life’s daily show

 

Its lovely to feel the season in full flow

And witness Nature in dullness and in full glow!!

 

Beautiful nature

A leaf’s story…..

 

A leaf on the branch of a tree

Is nature’s wonder for all to see

 

Clinging to the tree as it grows

It flutters away to put up a good show

 

Soft and smooth as a newborn

Blooms with flowers inspite of thorns

 

Youth brings in its sturdiness

As it dances in the wind in happiness

 

It offers itself as a brilliant camouflage

To birds and insects wanting longer age

 

As seasons change it matures

Wind, rain and cold ensure it quivers

 

Nature brings its end one fine day

As it falls down knowing its doomsday

 

The tree looks empty and cries

As the leaf abandons home and dries

 

Life doesn’t stop for nature though

New leaves ensure there’s hope in store

 

Amazing is the life story of a leaf

That inspires us to just be happy in brief !